Latest current affairs gktoday in hindi

gktoday in hindi Best Daily Current Affairs 2020-2021 for UPSC, IAS/PCS, Banking, IBPS, SSC, Railway, UPPSC

जर्मन एग्रोकेमिकल्स प्रमुख बायर ने सेमिनिस ब्रांड के तहत भारत में “येलो गोल्ड 48” नामक पहली बार पीले तरबूज की व्यावसायिक रूप से शुरुआत की है।

पीले तरबूज के बारे में


बेयर के वैश्विक अनुसंधान और विकास प्रयासों के तहत पीले तरबूज को बेहतर जर्मप्लाज्म से विकसित किया गया है।
पीले तरबूज की किस्म को दो साल के स्थानीय परीक्षणों के बाद भारत में व्यावसायिक रूप से पेश किया गया है।
येलो गोल्ड 48 ने उपज क्षमता, बेहतर रोग और कीट सहनशीलता और उच्च रिटर्न में वृद्धि की है जिससे तरबूज उत्पादकों को लाभ हो सकता है।
पीले सोने की 48 किस्म अक्टूबर से फरवरी के दौरान खेती के लिए सबसे उपयुक्त है। इसकी कटाई अप्रैल से की जा सकती है जिसके बाद यह जुलाई के मध्य तक बाजार में उपलब्ध होगी।

gktoday in hindi Best Daily Current Affairs 2020-2021 for UPSC, IAS/PCS, Banking, IBPS, SSC, Railway, UPPSC

पीले सोने का महत्व 48


येलो गोल्ड 48 में उच्च उपज और आय क्षमता है जो तरबूज उत्पादकों को नई श्रेणियों में विविधता लाने के लिए सशक्त बनाएगी। यह विदेशी फलों की बढ़ती मांग में भी मदद करेगा। यह अपनी तरह का पहला पीला मांस वाला तरबूज है जिसमें मध्यम से अच्छे प्रकार के पौधे होते हैं। इसका छिलका गहरे हरे रंग का होता है जिसमें हल्की धारियाँ और नारंगी पीले मांस का रंग होता है। फल का औसत वजन 2.5 -3 किलो . है

gktoday in hindi Best Daily Current Affairs 202

Leave a Comment

%d bloggers like this: